गोपाल प्रोत्साहन योजना

Submitted by sameer on शुक्र, 04/17/2020 - 19:35
गोपाल प्रोत्साहन योजना - Logo

गोपाल प्रोत्साहन योजना मध्य प्रदेश सरकार द्वारा शुरू की गई ऐसी योजना है जिसके अंतर्गत भारतीय उन्नत नस्ल के गौवंशीय पशुओ के पालन को बढावा देने एंव अधिक दुग्ध उत्पादन को प्रोत्साहित करने के लिये पुरस्कार योजना प्रस्तावित की गई है।इस योजना में पशु पालको को ज़्यादा आमदनी का साधन मिलेगा एंव भारतीय उन्नत नस्ल की गाय से उत्पन्न नर वत्स खेती के लिये उपलब्ध होंगे साथ ही दूध के उत्पादन मे बढ़ौतरी होगी और भारतीय उन्नत नस्ल के गौवंशीय उत्पादक पशुओ की संख्या मे बढ़ौतरी होगी।

प्रतियोगिता का आयोजन

  • विकास खंण्ड स्तर पर -
    • विकास खंण्ड स्तरीय प्रतियोगीता का आयोजन उप संचालक पशु चिकित्सा सेवायें द्वारा विकास खंण्ड के पशु चिकित्सक, शल्यज्ञ/ पशु चिकित्सा विस्तार अधिकारी, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत् की अध्यक्षता में समिती गठीत कर सम्पन्न करेंगे।
  • राज्य स्तर पर -
    • राज्य स्तरीय पुरस्कारो का चयन राज्य स्तर पर संचालक पशु चिकित्सा सेवाये की अध्यक्षता मे गठीत समीती के द्वारा सम्पन्न किया जायेगा।
  • जिला स्तर पर -
    • जिला स्तरीय प्रतियोगीता का आयोजन उप संचालक पशु चिकित्सा सेवायें, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत की अध्यक्षता मे गठीत समीती के द्वारा सम्पन्न किया जायेगा। अंतर्विभागीय स्वारूप देने के लिये जिला स्तरीय समिति में जिले के उप संचालक, कृषि पदेन सदस्य के रूप में नामंकित रहेंगें। राज्य स्तरीय पुरस्कारों का चयन राज्य स्तर पर संचालक पशु पालन द्वारा गठित समिति के द्वारा सम्पन्न किया जाएगा।

योजना का क्रियांवयन

हर साल अक्टुबर के महीने से दिसम्बर की अवधी मे योजना का क्रियांवयन किया जायेगा।

योजना का लाभ

  • विकास खंण्ड स्तरीय प्रतियोगिता पुरस्कार :-
    1. प्रथम पुरस्कार - 10,000 रुपये
    2. द्वितीय पुरस्कार - 7,500 रुपये
    3. तृतीय पुरस्कार - 5,000 रुपये
    4. विकास खण्ड स्तर पर प्रतियोगिता कार्यक्रम आयोजन, पशुओ के चारा पानी, परिवहन एंव पालको की व्यवस्था के लिए - 10,000 रुपये ।
  • जिला स्तरीय प्रतियोगिता पुरस्कार :-
    1. प्रथम पुरस्कार - 50,000 रुपये
    2. द्वितीय पुरस्कार - 25,000 रुपये
    3. तृतीय पुरस्कार - 15,000 रुपये
    4. सांत्वना पुरस्कार- 5,000 रुपये (कुल 35,000 रुपये, कुल सात पुरस्कार, प्रति पुरस्कार पॉच हजार रुपये)
    5. प्रचार प्रसार शिविर कार्यक्रम आयोजन एंव पशुओ के चारा पानी, पशुपालको की व्यवस्था हेतु 50,000 रुपये।
  • राज्य स्तरीय (संचालनालय स्तर) प्रतियोगिता पुरस्कार :-
    1. प्रथम पुरस्कार - 2.00 लाख रुपये
    2. द्वितीय पुरस्कार - 1.00 लाख रुपये
    3. तृतीय पुरस्कार - 0.50 लाख रुपये
    4. सांत्वना पुरस्कार- 10,000 रुपये ( कुल 70,000 रुपये, कुल सात पुरस्कार, प्रति पुरस्कार दस हजार रुपये)

योजना का लाभ कैसे प्राप्त करें

योजना जिला स्तर पर एंव राज्य स्तर पर संचालित की जायेगी। जिला स्तरीय प्रतियोगीता के लिए जिले के समस्त विकाश खंडो से ऐसे पशु पालक जिनकी देशी नस्ल की गाय का दूध का उत्पादन 4 लीटर प्रतिदिन या उससे ज़्यादा हो उनके आवेदन स्वीकार किये जायेंगे।

योजना में भाग लेने की पात्रता

सभी वर्ग के पशु पालक जिनके पास भारतीय उन्नत नस्ल की गाय उपल्ब्ध हो।

नई टिप्पणी जोड़ें

प्रतिबंधित एचटीएमएल

  • अनुमति रखने वाले HTML टैगस: <a href hreflang> <em> <strong> <cite> <blockquote cite> <code> <ul type> <ol start type> <li> <dl> <dt> <dd> <h2 id> <h3 id> <h4 id> <h5 id> <h6 id>
  • लाइन और पैराग्राफ स्वतः भंजन
  • Web page addresses and email addresses turn into links automatically.